भारत में कोरोना के 4 करोड़ परीक्षणों के नए शिखर को किया पार,लगातार तीसरे दिन 9 लाख से अधिक हुए परीक्षण

COVID-19 Test,महिला किसान नेता समेत 6 कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्ली। जनवरी 2020 से कोविड-19 से निपटने के जद्दोजहद में भारत ने एक और शिखर पार कर लिया है। अब तक किए गए कुल परीक्षणों की संख्या में एक अभूतपूर्व उछाल देखी गई है और आज यह 4 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है। केंद्र की अगुवाई में और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश सरकारों द्वारा कार्यान्वित किए गए केंद्रित, अनवरत और समन्वित प्रयासों की बदौलत भारत ने कुल 4,04,06,609 लोगों के परीक्षण कर एक नया मील का पत्थर स्थापित किया है। भारत ने जनवरी 2020 में पुणे की प्रयोगशाला में कोरोना संक्रमण का सिर्फ एक परीक्षण करने से लेकर 4 करोड़ से अधिक परीक्षण का एक लंबा सफर तय किया है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001N8LB.jpg

 

एक ही दिन में किए जा रहे परीक्षणों की संख्या में भी उतार-चढ़ाव देखी गई है। भारत ने पहले से ही प्रति दिन 10 लाख परीक्षणों की परीक्षण क्षमता हासिल कर ली है। पिछले 24 घंटों में 9,28,761 परीक्षण किए गए हैं।

भारत में प्रति दस लाख की आबादी पर परीक्षण (टीपीएम) बढ़कर 29,280 हो गई है। जैसा कि अधिक परीक्षण कराने वाले कई राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में देखा गया है, अधिक संख्या में परीक्षण के साथ ही धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण की दर (पॉजिटिविटी रेट) कम हो जाएगी। राष्ट्रीय संक्रमण दर अभी कम यानी 8.57%बनी हुई है और यह लगातार गिर रही है।

भारत टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट यानी परीक्षण, निगरानी और उपचार की रणनीतिक दृष्टिकोण का पालन कर रहा है जिससे कोविड संक्रमण को लेकर प्रतिक्रिया और उपचार का प्रारंभिक और महत्वपूर्ण स्तंभ तैयार होता है। यह केवल व्यापक स्तर पर तेजी से कराए जा रहे परीक्षण से ही संभव होता है कि प्रारंभिक अवस्था में ही संक्रमित मामलों की पहचान हो जाती है,उनके करीबी संपर्क में आए लोगों का तुरंत पता लगाया जा सकता है तथा उन्हें पृथकवास में रखा जा सकता है। इससे घरों में पृथकवास पर रखे गए मरीजों और अस्पताल में भर्ती लोगों का समय पर और प्रभावी उपचार सुनिश्चित किया जा सकता है।

देश भर में कई नीतिगत उपायों के माध्यम से आसानी से परीक्षण के लिए विस्तारित नैदानिक प्रयोगशाला नेटवर्क और सुविधा की वजह से राष्ट्रीय परीक्षण दरों में इस वृद्धि को बढ़ावा मिला है। पूरे देश में अब 1576 प्रयोगशालाएं हैं। सरकारी क्षेत्र में 1002 प्रयोगशालाएं और निजी क्षेत्र में 574 प्रयोगशालाएं हैं।

Spread the love
Latest News