नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो स्टेशन पर रंगनाथन सोसाइटी उपलब्ध करा रहा है मास्क,एनजीओ की महिलाओं ने किया है तैयार

नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो स्टेशन पर रंगनाथन सोसाइटी उपलब्ध करा रहा है मास्क,एनजीओ की महिलाओं ने किया है तैयार

ग्रेटर नोएडा,7 सितम्बर। विश्व व्यापी महामारी कोरोना के चलते विगत छह माह से बंद सार्वजानिक यातायात की रीढ़ की हड्डी कही जाने वाली “नोएडा मेट्रो ” का सञ्चालन एक बार पुनः सारी सावधानी और सतर्कता के साथ आज से प्रारम्भ हो गया। इससे न सिर्फ आम जनता को सुविधा हगि बल्कि शहर की अर्थव्यवस्था को भी एक बार पुनः उड़ान मिलेगी। सभी स्टेशनस पर सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करने हेतु जमीन पर एक निर्धारित दूरी पर स्टीकर्स लगाए गए है, प्रत्येक यात्री के किये तापमान जांच अनिवार्य है, हाथ सेनेटिज़ेशन की मुफ्त व्यवस्था की गई है और बिना मास्क के प्रवेश वर्जित किया गया है। जिन यात्रियों के पास मास्क नहीं होगा, उनकी सुविधा के लिए स्टेशन के प्रवेश द्वार पर ही उच्च गुडवत्ता वाले, कॉटन के मास्क कम कीमत में उपलब्ध कराये जा रहे हैं। इस कार्य के लिए गैर सरकारी संस्था “रंगनाथन सोसाइटी फॉर सोशल वेलफेयर एंड लाइब्रेरी डेवलपमेंट” को अधिकृत किया है ताकि यात्रियों को कम कीमत में अच्छे मास्क प्राप्त हो सकें। प्रारम्भ में ये सुविधा तीन स्टेशन, सेक्टर-51, एनएसईजेड एवं परीचौक पर प्रारम्भ की गई है एवं आवश्यकता अनुसार अन्य स्टेशन पर भी रंगनाथन सोसाइटी मास्क उपलब्ध कराएगी।
संस्था पारी चौक मेट्रो स्टेशन के नीचे गरीब बच्चों, युवाओं एवं महिलाओं के लिए नोएडा मेट्रो के सहयोग एक निःशुल्क एक “स्कूल एवं पुस्तकालय” का सञ्चालन करती है। कोविड के समय में आर्थिक रूप से प्रभावित हुई महिलाओं के लिए एक विशेष “आजीविका पहल ” कार्यक्रम के तहत उन्हें विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं,ताकि इस मुश्किल दौर में सम्मान पूर्वक कुछ कमा सके। इन्ही महिलाओं द्वारा मास्क भी बनाये जा रहे है जिन्हें बहुत पसंद किया जा रहा है। एनजीओ महिलाओं को मास्क के अलावा, कपडे के थैले, कागज से बने लिफाफे, इस्तेमाल की हुई कापियों में से बचे हुए कागजों से कॉपियों, कपडे के फ्लावर्स, वेस्ट मटेरिएल से कई उपयोगी बस्तुएं बनाने के कार्यों का प्रशिक्षण प्रदान कर उनकी आय बृद्धि में मदद करती है। इसके अलावा संस्था, परी चौक मेट्रो स्टेशन के नीचे चलने वाले “बिमटेक विद्या केंद्र ” में कचरा बीनने वाले बच्चों को शिक्षा, निरक्षर निर्धन महिलाओं को साक्षर बनाने, आर्थिक रूप से कमजोर छात्र छात्रों को कोचिंग, युवाओ को कम्प्यूटर प्रशिक्षण देने के साथ साथ एक पुस्तकालय का भी सञ्चालन करती है और ये सभी सुविधाएँ पूर्णतया निःशुल्क है।
संस्था द्वारा जेवर तहसील के नीमका गाँव में विगत पांच वर्षों से निर्धन ग्राम में छात्राओं एवं महिलाओं के लिए प्रोजेक्ट “प्रोत्साहन चिरैया” भी चलाया जा रहा है जिसके तहत अभी तक लगभग 500 छात्राओं को विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है। संस्था देश की विभिन्न कारागारों में बंद, बंदी महिला एवं पुरुषों के लिए “बंदी सुधार” कार्यक्रम भी चला रही है। यह संस्था ग्रेटर नोएडा स्थित बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी (बिमटेक) द्वारा सहयतार्थ है और इसमें बिमटेक के छात्र-छात्राओं के अलावा अध्यापक और कर्मचारी गण अपना सहयोग प्रदान करते है। NMRC की महा निदेशिका ऋतू माहेश्वरी की आभारी है कि स्टेशनस पर मास्क उपलब्ध करने के लिए रंगनाथन सोसाइटी पर विश्वास किया। इसके साथ ही संस्था प्रबंध निदेशक निदेशक टेक्निकल मनोज बाजपाई, वी. पी. एस. कुम्बर , रजनीश पांडेय, अविनाश के मार्गदर्शन के लिए भी आभारी है।

Spread the love
RELATED ARTICLES
Latest News