जीएनआईओटी इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज में पीजीडीएम के नए विद्यार्थियों को उद्यमियों ने किया प्रोत्साहित

जीएनआईओटी इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज में पीजीडीएम के नए विद्यार्थियों को उद्यमियों ने किया प्रोत्साहित

ग्रेटर नोएडा,26 सितम्बर। नॉलेज पार्क स्थित जीएनआईओटी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज(जीआईएमएस) में शनिवार को पीजीडीएम के नए छात्र-छात्राओं के लिए दो दिवसीय ओरिएंटेशन कार्यक्रम मेराकी का समापन हुआ। इसमें बतौर मुख्य वक्ता डीजीएम.एचआर रिलेक्सो ग्रुप नीलांजन मुखर्जी, तथा विशिष्ट वक्ता डीजीएम एवं हेड सीएसआर होंडा कार इंडिया लिमिटेड अनु मेहता शामिल हुए। इस दौरान विद्यार्थियों को संस्थान में चल रही शैक्षणिक व गैर.शैक्षणिक गतिविधियों की चर्चा की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन तथा सरस्वती वंदना से किया गया। अपने स्वागत भाषड में संस्थान के निदेशक डॉ. अरुण कुमार सिंह ने सभी अतिथियों तथा नए बच्चों का स्वागत करते हुये जीआईएमएस के शिक्षा व्यवस्था के साथ अपना भविष्य बनाने के लिए छात्रों को प्रेरित किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता नीलांजन मुखर्जी ने नए छात्रों को अपने लक्ष्य को ध्यान मे रखते हुए आज के समय के हिसाब से अपनी शिक्षा तथा कार्य कौशल को विकसित करने के लिए प्रेरित किया। होंडा कार इंडिया लिमिटेड की डीजीएम- हेड सीएसआर और विशिष्ट वक्ता अनु मेहता ने अपना स्वयं का उदाहरण देते हुए समर इनटर्नशिप तथा लाइव प्रोजेक्ट के माध्यम से अपने रुचि के विषय को समझने पर ज़ोर दिया साथ ही उन्होने छात्रों को किसी भी एक क्षेत्र मे स्वयं को विकसित करते को कहा। पीजीपी हेड प्रोफेसर मयंक पांडे ने अपने उद्बोधन मे पाठ्यक्रम के संचालन से जुड़ी हुई सभी प्रमुख बातें की तथा अपने मनोभाव को सफलता की कुंजी बताते हुए दो वर्ष मन से पढ़ाई के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम के अंत में डीन.आउट रीच एवं छात्र कल्याण प्रोफ रुचि ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। इस अवसर पर संस्थान के वरिष्ठ लोगों के साथ स्वदेश कुमार सिंह हेड ब्रांडिंग एवं प्रोमोसनए प्रोफेसर प्रदीप वर्मा आदि उपस्थित रहे।

Spread the love
Latest News