फर्जी पीएचडी डिग्री के आरोप में जीबीयू के स्टॉफ आफिसर मीना सिंह पर मुकदमा दर्ज

Gautam Buddha University, Greater Noida

-फर्जी मामला उजागर होने पर रजिस्ट्रार को उत्पीडन करने की दे रही थी धमकी
ग्रेटर नोएडा, 15 नवम्बर (देशबन्धु)। गौतम बुद्ध विवि में फर्जी पीएचडी डिग्री मामले में निलंबित स्टाफ आफिसर मीना सिंह पर कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जिला न्यायालय ने फर्जी डिग्री मामले में निलंबित की गई गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय की स्टॉफ ऑफिसर डा. मीना सिंह के खिलाफ इकोटेक एक थाना पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिया था। आरोप है कि पीएचडी की फर्जी डिग्री के जरिए मीना सिंह स्टॉफ ऑफिसर के पद तक पहुंची। पूर्व में विवि की जांच कमेटी में उनको फर्जी डिग्री के मामले में दोषी पाया गया था। गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार एसएन तिवारी ने 156(3) के तहत न्यायालय में याचिका दाखिल की थी। दाखिल की गई अर्जी में कहा गया था कि फर्जी दस्तावेज को मीना सिंह की तरफ से जानबूझ कर विवि में पेश किया गया। वर्ष 2010 में जौनपुर व वर्ष 2011 में मेरठ से पीएचडी करने की बात बताई गई। 2019 में स्टॉफ ऑफिस की फर्जी डिग्री के संबंध में विवि प्रशासन को शिकायत प्राप्त हुई। शिकायत पर जांच कराई गई तो पाया गया कि फर्जी डिग्री के जरिये नौकरी हासिल की गई है। कोर्ट ने मामले की सुनवाई कर ईकोटेक एक थाना पुलिस को मामले में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। रजिस्ट्रार एस.एन. तिवारी का कहना है कि विवि जांच में जब पता चला कि मीना सिंह की पीएचडी की डिग्री फर्जी है तो व राजनीतिक रसूक के चलते लगातार धमकी दे रही थी कि लैंगिक उत्पीडन के आरोप में मुकदमा दर्जकराकर मानहानि धूमिल करूंगी। उन्होंने बताया कि राजनीति व पुलिस प्रशासन में पकड़ होने की वजह से मीना सिहं पर मुकदमा दर्ज नहीं हो पा रहा था, आखिरकार कोर्ट की शरण में जाना पड़ा। मीना सिंह पर धारा-406,420,467,468,471,417 और 419 आईपीसी के तहत इकोटेक थाने में मुकदमा दर्जकर लिया गया है। पुलिस पूरे मामले की जांच शुरु कर दी है।

Spread the love
Latest News