" data-ad-slot="">

नई नहर व पुरानी नहर परियोजनाओं में किसान कल्याण के लिए सुधार की मांग

" data-ad-slot=""data-auto-format="rspv" data-full-width>
" data-ad-slot=""data-auto-format="rspv" data-full-width>
" data-ad-slot=""data-auto-format="rspv" data-full-width>

ग्रेटर नोएडा।उत्तर प्रदेश में नई नहर परियोजना और पुरानी नहर परियोजनाओ में किसान कल्याण हेतु सुधार की मांग को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता हरेन्द्र शर्मा ने मांग की है कि प्रदेश में पुरानी नहर परियोजना द्वारा सिंचित खेती बाडी वाले सभी किसानों द्वारा खेतों के सामने लगाये गये कुलाबो को, जिन्हें नहर विभाग अवैध करार देता है। इन सभी कुलाबों को प्रदेश सरकार तत्काल प्रभाव से वैध घोषित करे, क्योंकि जब अंग्रेजी शासन काल में पानी नहर परियोजनाओं- पुरानी  का निर्माण हुआ था, उस समय कृषि योग्य सिंचित भूमि का दायरा बहुत ही कम था, लेकिन आज वर्तमान मे कृषि वैज्ञानिकों के प्रयास से अत्याधुनिक कृषि उपकरणों, रासायनिक खाद और दवाओं के बन जाने से अधिकांश बंजर भूमि भी अब कृषि योग्य भूमि बनकर किसानों द्वारा खेती- बाड़ी की जा रही है, जिससे सिंचित भूमि का दायरा पहले की अपेक्षा अब अत्यधिक माता मे बढ गया है, इसलिए किसानों की बिबशाता है, वे खेत के सामने पया 6 इंची. पाईप का कुलाबा लगाकर फसलों की सिंचाई कर रहे हैं। हरेन्द्र ने कहा कि नहर परियोजना से संबंधित समस्या के निवारण के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से यथोचित कारवाई हेतु अप्रैल को उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव को प्रेषित किया गया, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई है। वर्तमान यूपी सरकार चुप्पी साधे बैठी है, योगी एंड कंपनी सरकार समस्या के निवारण पर गूंजी, बहरी, गंधी हुई बैठी है। 2022 के चुनावी सभाओं में मोदी और योगी  ने जनता के हित के लिए काम करने की गारंटी दी थी। मैं जानना चाहता हूँ, क्या आपके काम करने की गारंटी यही है, कि प्रदेश का एक गरीब किसान आदमी जमीनी स्तर की समस्या के निवारण के लिए आपको अवगत कराता है, और समस्या के निवारण पर आपकी सरकार कानो मे कई डाल कर आँखे मूंदकर बैठ जाती है। ये कैसा सुशासन है, ये कैसा रामराज है?

मैं पूछना चाहता है, जब आपके द्वारा नवेबर 20021मे पूरी अर्जुन सहा न सहायक परियोजना से 1.50 लाख किसानों को और दिसंबर 2021 में पूरी हुई सरय नहर परियोजना से नौ जिलो के २१ लाख किसानों को सिंचाई सुविधा का लाभ मिलेगा, मे घोषणा की गई थी, तो पूरी हुई नई नहर परियोजना से संबंधित किसानो को जब नहर की दौथी और बोर्ड पसी पर 4 या 6 इंची पाठय का कुलावा लगाने की अनुमति नही दी जायेगी, तो खेतो की सिंचाई कैसे होगी ? किसानों को सिंचाई सुविधा का लाभ कैसे मिलेगा? मोदी एंड योगी डबल इंजन सरकार को इतना ज्ञान तो होना चाहिए।  इसलिए मेरी मीडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी जी, मुख्यमंत्री योगी जी से करब दु, प्रार्थना है, प्रदेश मे पूरी नई नहर परियोजना से संबंधित सभी किसानो को 1 सिंचाई के लिए नहर पखी पर पया 6 इंची पाईप का कुलाबा लगाने की अनुमति देनो, विभाग की ओर से वारबंदी का भी प्रमाणपत्र देने और पुरानी नहर परियोजना से भी संबंधित – सभी किसानो के कुलावो को वैध घोषित करने के लिए संबंधित त अधिकारियो को आदेश जारी करें, जिससे प्रदेश के सभी किसानों को सिंचाई माफी का लाभ मिल सके। इसके साथ ही मैं अपने जनपद गौतम बढ़ नगर और प्रदेश के सभी समाजसेवियों, सामाजिक कार्यकताओ और किसान संगठनों से भी अपील करता

हूँ, समस्त उत्तर प्रदेश के किसान कल्याण एवं धार्पिक सुधार हेतु मांग पर कारवाई करवाने के लिए आगे आयें, साथ दें।

 

Spread the love
Samvad Express

Samvad Express is a News Portal Digital Media.

Recent Posts

वनस्थली पब्लिक स्कूल जीटा वन में चल रही है, इंटर स्कूल कंपटीशन का हुआ समापन

ग्रेटर नोएडा। वनस्थली पब्लिक स्कूल जीटा वन मैं चल रही है, इंटर स्कूल कंपटीशन का…

12 hours ago

वनस्थली पब्लिक स्कूल में तीसरे दिन स्टोरी टेलिंग और आर्ट एंड क्राफ्ट की हुई प्रतियोगिता

ग्रेटर नोएडा।वनस्थली पब्लिक स्कूल जीट वन ग्रेटर नोएडा में चल रहे तीसरे दिन में स्टोरी…

1 day ago

फार्मेसी  में अनुसंधान  के लिए लॉयड और यूरेका लैब्स के बीच ‘सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ की स्थापना के लिए  हुआ समझौता

ग्रेटर नोएडा। लॉयड इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी ने फार्मेसी के छात्रों में अनुसंधान और…

2 days ago

सेन्ट जोसेफ स्कूल में धूमधाम से मनाया गया प्रधानाचार्य का जन्मदिन

ग्रेटर नोएडा। सेंट जोसफ विद्यालय में प्रधानाचार्य का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम…

3 days ago

वनस्थली पब्लिक स्कूल में चल रहे इंटर स्कूल प्रतियोगिता में प्रतिभागी बच्चों में दिखा उत्साह

ग्रेटर नोएडा।  वनस्थली पब्लिक स्कूल में चल रहे इंटर स्कूल कंपटीशन के दूसरे दिन कई…

3 days ago
" data-ad-slot=""data-auto-format="rspv" data-full-width>