यूपी में विधान सभा चुनावः पहले चरण में गौतमबुद्धनगर सहित इन जिलों में होगा चुनाव

Assembly elections in UP: In the first phase, elections will be held in these districts including Gautam Budh Nagar

यूपी में इस स्थानों पर इन चरणों मे होगा मतदान

10 फरवरी पहला चरण : शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, गौतमबुद्धनगर, मथुरा, आगरा

14 फरवरी दूसरा चरण : सहारनपुर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, संभल, बदायूं, बरेली, शाहजहांपुर

20 फरवरी तीसरा चरण : हाथरस, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरेया, कानपुर, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर

23 फरवरी चौथा चरण : पीलीभीत, खीरी, सीतापुर, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली, फतेहपुर, बांदा

27 फरवरी पांचवा चरण : श्रावस्ती, बहराइच, गोंडा, बाराबंकी, अयोध्या, अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, कौशांबी, प्रयागराज, चित्रकूट

3 मार्च छटवां चरण : बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संत कबीरनगर, अंबेडकर नगर, महाराजगंज, कुशीनगर, गोरखपुर, देवरिया, बलिया

7 मार्च अंतिम सातवां चरण : आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र।

2017 में सात चरणों में हुए थे चुनाव
उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के लिए आम चुनाव 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक सात चरणों में आयोजित हुए। इन चुनावों में मतदान प्रतिशत लगभग 61% रहा। भारतीय जनता पार्टी ने 312 सीटें जीतकर तीन-चौथाई बहुमत प्राप्त किया जबकि सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी गठबंधन को 54 सीटें और बहुजन समाज पार्टी को 19 सीटों से संतोष करना पड़ा।
19 मार्च को योगी ने ली थी शपथ
18 मार्च 2017 को भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ को यूपी सीएम चुना गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को उपमुख्यमंत्री नियुक्त किया गया। 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

यूपी के सीएम योगी की प्रतिक्रिया

सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा– चुनाव तिथियों के एलान का स्वागत, प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे। जनता के आशीर्वाद से दोबारा सरकार बनेगी।

 यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा 
चुनाव आयोग की घोषणा का स्वागत है। योगी सरकार ने गरीबों के लिए काम किया है। भाजपा को 300 से अधिक सीटें मिलेंगी। पंचायत चुनाव के दौरान सभी ने सपा की गुंडागर्दी देखी है। इसलिए लोगों ने भाजपा को जिताया है।
 समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा 
10 मार्च को भाजपा का सफाया होगा। सरकार के लोग नियमों का पालन करे। चुनाव आयोग वर्चुअल कार्यक्रम के लिए सहयोग करे। आयोग को सभी दलों को बराबर नजर से देखना चाहिए। आयोग की हर शर्त का पालन होगा।
Spread the love
Latest News