गांव की मुस्कान की दूरदर्शन तक का सफर, किया संस्कृत में पाठ

गांव की मुस्कान की दूरदर्शन तक का सफर, किया संस्कृत में पाठ

ग्रेटर नोएडा,। उच्च प्राथमिक विद्यालय रामनेर, जेवर ब्लॉक की छात्रा मुस्कान चौहान ने कक्षा आठ की संस्कृत भाषा में काव्य रचना (भारत भूमि की सुन्दरता) का काव्य पाठ दूरदर्शन पर बहुत ही सुन्दर और मनमोहक भाषा शैली में किया। इसका सीधा प्रसारण डी.डी.न्यूज चैनल पर वार्तावली कार्यक्रम में बाल संगीत माधुरी कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रसारण किया गया। इस कार्यक्रम में कई राज्यों के बच्चों का संस्कृत भाषा में काव्य गायन हुआ, जिसमें महान प्रतिभा की धनी मुस्कान भी प्रतिभागी थी।
गांव की मुस्कान की दूरदर्शन तक का सफर, किया संस्कृत में पाठ
चिरागों का अपना कोई मकाँ नहीं होता,
जहाँ जलाओ वहीं रोशनी है।

उक्त पंक्ति को चरितार्थ करते हुए बेसिक शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश में कार्यरत सहायक अध्यापक संजय शर्मा ने ग्रामीण आंचल में जावालि ऋषि की पवित्र तपोभूमि जेवर के उच्च प्राथमिक विद्यालय रामनेर में देववाणी संस्कृत को अपने छात्रा मुस्कान द्वारा दूरदर्शन पर गायन कराके यह सिद्ध कर दिया कि आज भी भारत गाँव में बसता है। उन्होंने बताया कि बेटी मुस्कान एक ग़रीब परिवार से है और ग्रामीण आँचल की एक ऊभरती हुई महान प्रतिभा हैं। हम उसके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं। उनकी माँ मीरा देवी और पिता भूरा सिंह मजदूरी का काम करते हैं। वो इस बात से बहुत खुश हैं कि उनकी बेटी एक होनहार बेटी है। क्योंकि प्रतिभाएं तो ग्रामीण आँचलों और गरीबी के परिवेश से भी निकल कर आती हैं।

Spread the love
Latest News